South Asia का 50,000 साल से लेकर 1947 तक का संपूर्ण इतिहास- Hindustan Special

दक्षिण एशिया (South Asia)

•दक्षिण एशिया एशिया का दक्षिणी भाग है। जो दुसरे एसियाई भागों से अलग है।

• इस क्षेत्र में भारत, बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्री लंका, भूटान, नेपाल, मालदीप और अफ़ग़ानिस्तान शामिल हैं।

• इस क्षेत्र का सबसे बड़ा देश भारत और सबसे छोटा देश मालदीप है।

• अगर हम स्थलाकृतिक रूप से बात करें, तो यहां पर भारतीय प्लेट का प्रभाव साफ़ दिखता है। दक्षिण में हिंद महासागर और उत्तर में हिमालय काराकोरम पर्वत श्रृंखला है।

• दक्षिण एशिया की भूमि, पश्चिमि एशिया, मध्य एशिया और पूर्वी एशिया से घिरी हुई है।

दक्षिण एशिया की विशेषताएं

•दक्षिण एशिया कुल 5,134,641 वर्ग किमी (1,982,496 वर्ग मील) में फैली हुई है।

•इस क्षेत्र में विश्व की सबसे बड़ी आबादी लगभग 1.94 अरब (2020 के आंकडे) लोग निवास करते हैं।

•इस क्षेत्र का जन घनत्व 362.3 प्रति वर्ग किमी (938/वर्ग मील) है। जोकि विश्व में सबसे अधिक है।

•बांग्लादेश दक्षिण एशिया का सबसे अधिक घना वसा देश है। 2021 के आंकड़ों के अनुसार, बांग्लादेश का जन घनत्व 1, 123.85 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी है।

•इस क्षेत्र की नॉमिनल जीडीपी 2020 में $3.326 ट्रिलियन था। जिसमें भारत $3.25 ट्रिलियन डॉलर के साथ सबसे ऊपर है। क्षेत्र की पीपीपी जीडीपी 12.752 ट्रिलियन (2018) है। इसमें भारत की पीपीपी जीडीपी 11.35 ट्रिलियन डॉलर है।

•दक्षिण एशिया की प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद $1,826(Nominal 2020 में) और $6,130(पीपीपी मॉडल, 2020) है।

•दक्षिण एशिया का मानव विकास सूचकांक 0.642 (2021 में) था। जोकि एक मध्यम वर्ग में आता है।

जातीय समूह

•इंडो-आर्यन , ईरानी , द्रविड़ , चीन-तिब्बती , ऑस्ट्रोएशियाटिक , तुर्किक, पस्तु आदि।

दक्षिण एशिया में धर्म

•हिंदू धर्म , इस्लाम , ईसाई धर्म , बौद्ध धर्म , सिख धर्म , जैन धर्म , पारसी धर्म , अधर्म

उपनाम

•दक्षिण एशियाई

सामुद्रिक निर्भरता

•ब्रिटिश इंडियन ओसियन टेरीटरी

•भारतीय सामुद्रिक क्षेत्र

दक्षिण एशिया की अधिकारिक भाषाएं

•हिंदी, बंगाली, उर्दू, नेपाली, तमिल,दारी ( फारसी ),जोंगखा,धिवेही,अंग्रेज़ी,पश्तो,सिंहली

दक्षिण एशियाई लोगों को जोड़ने वाली भाषा

•अंग्रेजी

दक्षिण एशिया के समय क्षेत्र

कुल 5 समय क्षेत्र

•यूटीसी+04:30

अफ़ग़ानिस्तान

•यूटीसी+05:30

भारत और श्रीलंका

•यूटीसी+05:00

मालदी और पाकिस्तान

•यूटीसी+05:45

नेपाल

•यूटीसी+06:00

बांग्लादेश और भूटान

दक्षिण एशिया के कॉलिंग कोड

•जोन 8 और 9

दक्षिण एशिया
देशों की संख्या8
देशभारत, पाकिस्तान, नेपाल, अफगानिस्तान, भूटान, मालदीव, श्रीलंका और बांग्लादेश
दक्षिण एशिया विख्यातभारतीय उपमहाद्वीप के नाम से, इसके अलावा इन्हें हिमालय के दक्षिणवर्ती देशों से के नाम से भी जाना जाता है
क्षेत्रफलक्षेत्र: 5,134,641 वर्ग किमी (1,982,496 वर्ग मील)
एशिया का कुल क्षेत्रफल11.71%
विश्व का कुल क्षेत्रफल3.5%
आबादीक्षेत्र: 5,134,641 वर्ग किमी (1,982,496 वर्ग मील)
जन घनत्व362.3 प्रति वर्ग किमी (938प्रति वर्ग मील), यह पूरी दुनिया में सबसे अधिक जनसंख्या और जन घनत्व वाला क्षेत्र है
एशिया की कुल आबादी39.49%
विश्व की कुल आबादीकरीब 24%
जीडीपी पीपीपी मॉडल पर$12.752 ट्रिलियन, 2018 में
जीडीपी नॉमिनल$3.326 ट्रिलियन 2020 में
प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद$1,826(नॉमिनल जीडीपी)
मानव विकास सूचकांक0.641, मध्यम
क्षेत्र की जातीय समूहभारतीय-आर्यन , ईरानी , द्रविड़ भारतीय , चीन-तिब्बती , ऑस्ट्रोएशियाटिक , तुर्किक
क्षेत्रीय धर्महिंदू धर्म या सनातन धर्म , इस्लाम , ईसाई धर्म , बौद्ध धर्म , सिख धर्म , जैन धर्म , पारसी धर्म , नास्तिकवाद
सबसे पुराना धर्मसनातन धर्म
कुल 5 समय क्षेत्रसमय क्षेत्र
यूटीसी+04:30 :अफ़ग़ानिस्तान
यूटीसी+05:00 :मालदीव पाकिस्तान
यूटीसी+05:30 :इंडिया श्रीलंका
यूटीसी+05:45 :नेपाल
यूटीसी+06:00 :बांग्लादेश भूटान
सबसे बडे़ शहरइंडिया अहमदाबाद, बैंगलोर चेन्नई पुणे मुंबई नई दिल्ली हैदराबाद सूरत
श्रीलंका कोलंबो
बांग्लादेश ढाका खुलना सिलहट सिलहट
पाकिस्तान कराची लाहौर
मानव विकास सूचकांक0.641, मध्यम

दक्षिण का इतिहास

पूर्व इतिहास (Pre history )

•दक्षिण एशिया में मानव सभ्यता के इतिहास की शुरूआत होमोसेपियंस से मानी जाती है। इससे पहले 50,000 से 500,000 साल पहले होमो इरेक्टस मानव था।

•इस क्षेत्र में प्रारंभिक प्रागैतिहासिक काल की जड़े मध्य पाषाण काल में मानी जाती हैं।

• नव पाषाण काल की शुरूआत दक्षिण एशिया में 30,000 साल पहले हुई थी। इसकी गवाई भीमबेटका की गुफ़ाओ में बने शैल चित्र हैं।

दक्षिण एशिया का प्राचीन इतिहास

•दक्षिण एशिया की प्राचीन सभ्यता सिंधु घाटी सभ्यता है। जिसको हड़प्पा सभ्यता के नाम से भी जाना जाता है। जो भारतीय उपमहाद्वीप में उत्तरी और पश्चिमी भाग में फैली और विकसित हुई थी।

•सिंधु घाटी सभ्यता का समय 3300 ईसा पूर्व से लेकर 1300 ईसा पूर्व तक था। यह 2600 से 1900 ईसा पूर्व में पुर्ण विकसित सभ्यता बन चुकी थी।

•वैदिक काल भी दक्षिणी एशिया का प्रमुख इतिहास रहा है। वैदिक सभ्यता को आर्यों ने बढ़ाया था।

•सिंधु घाटी सभ्यता के पतन के बाद इंडो आर्यन चरवाहे गंगा नदी के विशाल मैदानों पर आ गए। इनका समय काल 1900 से 500 ईसा पूर्व था।

•1200 ईसा पूर्व तक गंगा के उत्तरी मैदानों में अल्प विकसित राज्य दिखने लगे थे। जिनमें कुरू और पंचाल महत्वपूर्ण थे।

•पुरातत्व विशेषज्ञ कहते हैं कि भारत में पहला राज्य स्तरीय समाज 1000 ईसा पूर्व में प्रकट हुआ था।

•400 ईसा पूर्व तक वैदिक समाज में ढेर सारी बुराईं व्याप्त हों गई थी। जिससे भारत में नए धर्मों का उदय हुआ।

दक्षिण एशिया में नए धर्मों का उदय

•हिंदू धर्म में व्याप्त बुराईयों का बहुत सारे विद्वानों ने विरोध किया।

•800 से 400 ईसा पूर्व तक भारत में बौद्ध धर्म और जैन धर्म का उदभाव हुआ।

•जैन धर्म की स्थापना महावीर स्वामी द्वारा (549 से 477 ईसा पूर्व में) की गई थी।

•बौद्ध धर्म की स्थापना भगवान बुद्ध द्वारा (563 से 483 ईसा पूर्व में) की गई थी।

•दक्षिण एशिया के हिन्दू कुश अफ़गानिस्तान में सिकंदर की सेना कई सालों तक रुकी थी। इसके बाद वह अपनी सेना सहित सिंधू घाटी सभ्यता के क्षेत्र में चला गया था।

•दक्षिण एशिया में 3 ईसा पूर्व में मौर्य साम्राज्य की नींव पड़ी थी। जो पूरे दक्षिण एशिया में फैल गया था।

•बौद्ध धर्म दक्षिण एशिया से निकलकर मध्य एशिया में फैल गया। अफ़ग़ानिस्तान में बुद्ध धर्म बड़े पैमाने पर फला फूला था। बामियान में महात्मा बुद्ध की प्रतीमा विश्व प्रसिद्ध थी। जिसको तालिबान ने 2001 में बॉम्ब ब्लास्ट से उड़ा दिया था।

•गुप्त साम्राज्य की 4 वी से 5 वी शताब्दी में तक दक्षिण एशिया में नालंदा और तक्षशिला जैसे विश्व प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों की स्थापना हुईं।

•10वी शताब्दी के दौरान एलोरा , बादामी और अजंता की गुफाओं का निर्माण हुआ।

मध्यकालीन युग

•7 वी शताब्दी में सऊदी के मक्का में इस्लाम की नींव पड़ी और 8 वी शताब्दी तक दक्षिण एशिया के दरवाजे तक राजनीतिक शक्ति के रूप में उभर कर सामने आया।

•अरब इस्लामिक आक्रमणकारी मोहमंद बिन कासिम ने 711 ईस्वी में सिंध और मुल्तान पर कब्ज़ा कर लिया।

•962 ईस्वी तक दक्षिण एशिया में हिन्दू और बौद्ध राज्य मुस्लिम आक्रमणकारियों के निशाने पर आ गए।

•997 से 1030 ईस्वी के बीच गजनी के महमूद ने भारत के अलग अलग राज्यों पर 17 बार आक्रमण किया। तब भी उसने भारत में अपना इस्लामी शासन स्थापित नहीं किया था। लेकिन पंजाब को उसने अपने इस्लामी शासन के अंतर्गत ले लिया।

•दक्षिण एशिया में 1206 में दिल्ली में इस्लामी दिल्ली सल्तनत की नीव पड़ी। इसका प्रथम सुलतान कुतुबुद्दीन ऐबक था।

•दिल्ली सल्तनत 320 वर्षों तक चली। इसका आखिरी सुलतान इब्राहिम लोदी था। जो पानीपत की 1526 की लड़ाई में हुमायूं से हार गया था और युद्ध भूमि में ही मारा गया।

•1526 से दक्षिण एशिया में मुगल काल की शुरूआत हुई।

•दिल्ली सल्तनत के काल में ही दक्षिण भारत में हिंदू साम्राज्य विजयनगर की 1336 में स्थापना हुई। जो 16वी शताब्दी तक रहा था।

आधुनिक काल

• दक्षिण एशिया में आधुनिक युग (18 वी शताब्दी से ) की शुरूआत औरंगजेब की मौत से होती है। जबकि यूरोप में आधुनिक युग की शुरूआत बहुत पहले ही हो गई थी।

• दक्षिण एशिया में मुगल काल के समय में भी कुल सकल घरेलू उत्पाद विश्व का 35% था।

• औरंगजेब की मौत से मराठों, सिखों और दूसरे नवाबों को स्वतंत्र राज्य स्थापित करने की शक्ति मिली। लेकिन किसी में भी एकता नहीं थी।

• पुर्तगाली नाविक वास्को डी गामा 8 जुलाई 1497 को भारत की ख़ोज में यूरोप से निकला और वह 20 मई 1498 को केरल के कोझीकोड जिले के कालीकट(काप्पड़ गांव) में पहुंच कर भारत में प्रवेश किया।

• भारत की ख़ोज के बाद ढेर सारे यूरोपीय व्यापारी भारत में व्यापार करने आने लगे।

• सबसे पहले पुर्तगाली लोग व्यापार करने आए। इसके बाद डच, फ्रांसीसी और अंग्रेज आए।

• अंग्रेजो ने भारतीय राजाओं की फूट का फायदा उठाया और दक्षिण एशिया को अपने कब्जे में ले लिया।

• दक्षिण एशिया में ब्रिटेन का शासन 1965 तक बना रहा था। क्योंकि ब्रिटेन ने मालदीप को स्वतंत्रता 1965 में दी थी। दूसरी ओर पुर्तगालियों ने गोवा को 450 से गुलाम बना रखा था। जिसको भारत की स्वतंत्रता के 25 वर्षों बाद 19 दिसम्बर 1961 को आजाद कराया गया था।

आधुनिक दक्षिण एशिया
शासनब्रिटिश द्वारा
भारतीय उपमहाद्वीप शब्द की उत्त्पतिब्रिटिश शासन द्वारा
म्यामांरम्यामांर 1937 में ब्रिटिश साम्राज्य से अलग हो गया था, इस पर ब्रिटिशों ने 1886 से 1937 तक शासन किया
नेपाल और भूटाननेपाल और भूटान कभी भी ब्रिटिश साम्राज्य का नहीं रहे थे, यह हमेशा स्वतंत्र देश रहें हैं
भारतीय ब्रिटिश साम्राज्यभारतीय ब्रिटिश साम्राज्य में श्री लंका, मालदीव और भारत , पाकिस्तान रहें हैं। इसके अलावा भारत की 562 रियासतें ब्रिटिश साम्राज्य के अधीन थीं
सार्कसार्क दक्षिण एशिया का एक प्रमुख संगठन है, जिसको हम दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (दक्षेस) के नाम से भी जानतें हैं। अंग्रेजी में South Asian Association for Regional Cooperation, 8 दिसंबर 1985, ढाका, बांग्लादेश
भारत विभाजनसन 1947 में भारत का विभाजन हुआ। भारत और पाकिस्तान नाम से 2 स्वतंत्र देश बने।
भारत का स्वतंत्रता दिवस15 अगस्त 1947
पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस14 अगस्त 1947
बांग्लादेश राष्ट्र बनाबांग्लादेश 1971 में बांग्लादेश मुक्ति युद्ध के बाद एक स्वतंत्र राष्ट्र बना। इससे पहले यह पूर्वी पाकिस्तान के नाम से जाना जाता था।
You are currently viewing South Asia का 50,000 साल से लेकर 1947 तक का संपूर्ण इतिहास- Hindustan Special